Internet Kya Hai
Internet Kya Hai [A to Z इंटरनेट का इतिहास] 

सवाल ये उठता है, Internet Kya Hai और Internet को चलाता कौन है इसका इतिहास क्या है? पूरी दुनिया के इंटरनेट को कंट्रोल कौन करता है? 

Internet Kya Hai


शायद आपके मन में आएगा कि Internet को Control करने वाली कंपनी जैसे Jio, Vodafone, Airtel, और Bsnl यह कंट्रोल करती हैं। 



लेकिन यह सच नहीं है। क्योंकि अगर एक कंपनी ने बंद किया Internet प्रोवाइड करना तो दूसरी कंपनी मौजूद होती है। तो शायद आप सोचोगे कि हमारी सरकार कंट्रोल करके रखती है। 



लेकिन यह चीज भी सच नहीं। सरकार ज्यादा से ज्यादा सौ पचास फेसबुक पोस्ट को हटा सकती है। दो-तीन वेबसाइट को ब्लॉक कर सकती है। लेकिन उसको भी बाईपास किया जा सकता है। 

Internet Kya Hai iska upyog


सरकार दुनिया भर का तो कंट्रोल इंटरनेट का तो नहीं होता, तो शायद आप सोचोगे कि Google, Facebook, Youtube जैसी कंपनी Internet को कंट्रोल करके रखती है। नहीं यह सिर्फ Internet Ka Upyog करती हैं। 



क्योंकि सबसे ज्यादा Data यहां पर होता है।लेकिन यह बात भी सच नहीं है, क्योंकि आप अपनी खुद की Website बना सकते हो और यह कंपनियां उसमें कोई इंटरफेयर नहीं कर सकती। 


सवाल यह उठता है कि जब आप अपनी Website बना रहे हो। तो आपको Website के लिए जगह कौन देता है Internet पर वेबसाइट बनाने के लिए। 



कोई अथॉरिटी है जो बता सकती है कि यह Website आप बना सकते हो, और यह वाली वेबसाइट आप नहीं बना सकते। 

इस एजुकेशनल पोस्ट में मैं आपको Internet के बारे में बताना चाहूंगा। Internet पूरी दुनिया में फ्रीडम ऑफ डेमोक्रेसी मेंटेन करने का एक बेहतरीन टूल। 


चाइना जैसी कंट्रीज है जो अपने सिटीजन को ब्लॉक ऑफ करके रखते हैं। कुछ वेबसाइट से जैसे। गूगल, यूट्यूब, Facebook चाइना में ब्लॉक है। चाइना एक तरह से ब्रेनवाश करना चाहती है अपने सिटीजन का। 


तो दोस्तों Internet Kya Hai, यह कैसे काम करता है। यह समझना बहुत ही जरूरी है और मैं आपको यह इस पोस्ट में बताऊंगा। 


Also, read...





Internet Kya Hai in Hindi
Internet Kya Hai in Hindi

www.mobileappkyakaise.com यह एक Url है, एक लिंक है। इसमें जो mobilekyakaise है, उसको को एक Domain Name कहते हैं। और .com है उसे कहते हैं टॉप लेवल डोमेन। 


अगर आपको अपनी वेबसाइट बनानी है तो आपको अपना डोमेन नाम खरीदना होता है। कुछ ऐसी वेबसाइट से जो डोमेन नेम बेचने का काम करती है जैसे गोडैडी, नामचीप इत्यादि। 


एक वेबसाइट बनाने के लिए आपको Godaddy.com पर आप जाएंगे और आपको एक डोमेन नेम को खरीदना होगा जैसे mobileappkayakaise.com एक डोमेन नाम है। 


सवाल यह उठता है कि गो डैडी को हक किसने दिया क्यों जाकर डोमेन नेम सेल करे। गोडैडी कौन होता है डोमेन नेम को बेचने वाला। 

History of Internet in Hindi 

कोई तो होगा जो कहता होगा कि हां Namecheap या Godaddy डोमेन नाम  बेच सकता है। अगर ऐसा हो तो गोडैडी बॉस बन गया। यही डिसाइड करेगा कि किसके पास कौन सा डोमेन नेम होना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं इसके ऊपर एक और एक पार्टी है जिसका नाम है आई कैन।  

Icann इसे आप कह सकते हो यह टॉप लेवल पार्टी है domain नाम को लेकर यही बताती है कौन से डोमेन नेम हो सकते हैं, और कौन से बेचे जा सकता है। 


TLD (Top Level Domains) के प्रकार

  • .com
  • .in
  • .net
  • .org
  • .info
  • .edu
  • .gov
  • .biz
  • .pro
Icann यह नॉनप्रॉफिट कंपनी है, लेकिन यह टॉप लेवल डोमिन को भेजती है बाकी कंपनियों को मीटिंग करके domain names को सेल करने के लिए।  

Uses of the Internet in Hindi


तो सवाल यह उठता है, क्या ICANN यहां पर पूरे इंटरनेट का मालिक है क्या? ऐसा नहीं कहा जा सकता दोस्तों! क्योंकि जो इंटरनेट है वह Decentralized नेटवर्क है। 


जो भी कंप्यूटर या मोबाइल इंटरनेट से कनेक्ट है, वही इंटरनेट को बनाता भी है, उसे सर्वर कह सकते हैं। पूरी दुनिया में। बड़ी-बड़ी अंडर वाटर केवल बिछी हुई हैं।  

Internet ki sanrachna


Internet ki sanrachna दुनिया भर के सारे कंप्यूटर को एक दूसरे से कनेक्ट करती हैं। जिससे इंटरनेट बनता है, अब आप सोचेंगे कि मेरा मोबाइल फोन पर किसी केबल से कनेक्ट नहीं है। उस पर कैसे Internet चल जाता है? 


मोबाइल फोन दोस्तों 3G, 4G टावर के ऊपर चलता है। जिसकी बहुत बड़ी रेंज नहीं होती। और अब जब तक उस मोबाइल के टावर के पास रहेंगे तब तक आपके मोबाइल में नेटवर्क आएगा। 



लेकिन थोड़ी सी ज्यादा दूर जाएंगे तो वहां पर नहीं आएगा। लेकिन जो मोबाइल टावर है वह Internet वायर से कनेक्टेड है। जो वायर पूरी दुनिया में इंटरनेट से कनेक्ट है। आप मैप चित्र में देख सकते हैं नीचे। 



Internet History in Hindi
Internet History in Hindi

एक बड़ी Internet की cable जो मुंबई तक गई मुंबई तक आई और मुंबई से वहां पूरे इंडिया के अलग-अलग एरिया में गई जो पुरे देशभर में अलग-अलग एरिया में इंटरनेट पहुंचा। 


तो एक तरह से आप कह सकते हो कि जिस कंपनी ने जो वायर बिछाई हैं, यहां तक पूरी दुनिया में तो उसके पास काफी सिग्निफिकेंट पावर है। जो Internet पहुंचा रहे अलग-अलग जगह तक। 


दूसरा आप कह सकते हो कि जो कंपनी जमीन पर वायर पीछा कर लोगो के घर घर तक जो पहुंचा रही है। और आपके कंप्यूटर को पूरे दुनिया भर के कंप्यूटर से कनेक्ट कर रही है। 



उसके पास भी काफी सिग्निफिकेंट पावर है। उसे कहते हैं, ISP "इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर" जैसे जिओ एयरटेल वोडाफोन जो आपके घर तक इंटरनेट पहुंचा रहे हैं? 


इनके पास भी काफी पावर होती है, जो गवर्नमेंट के कहने पर कुछ वेबसाइट्स को ब्लॉक करवा सकती हैं। लेकिन इतनी भी पावर नहीं है इनके पास के बहुत सारी चीजों को कंट्रोल कर सके। क्योंकि VPN लगाके ISP की पावर को ओवरकम कर सकते हैं।


IP Address Kya Hai


जैसे हर मोबाइल फोन का एक नंबर होता है। जिससे किसी भी दूसरे फोन को आप कॉल लगा सकते हो। ऐसे हर डिवाइस जो इंटरनेट से कनेक्टेड है उसका एक आईपी [IP Address] नंबर होता है।  



चाहे वह आपका कंप्यूटर हो या आपका मोबाइल फोन जो भी इंटरनेट से कनेक्टेड है उसका एक आईपी एड्रेस होता है। 


जिसे आप किसी को फोन लगाते हो तो आप अपने नंबर से डायल करते हो तो उस फोन पर कॉल चली जाती है।  उसी तरह से जब आप अपने ब्राउज़र से किसी दूसरे की साइट को सर्च करते हो? 


तो आपकी Ip Address से उस वेबसाइट की आईपी आपकी कंप्यूटर या मोबाइल पर दिखने लगती है। लेकिन अब अब सवाल उठता है, कि हम आईपी एड्रेस तो नहीं लिखते डोमेन नेम लिखते हैं, तो डोमेन नेम दोस्तों Ip से से आईपी ऐड्रेस से कनेक्टेड होता है। 


आईपी एड्रेस दोस्तों एक ऐसी लैंग्वेज है जो डिजिट और नंबर में लिखा गया है जिसे इंसान नहीं पढ़ सकता इसलिए इस Ip की जगह डोमेन नाम होता है। जो ह्यूमन के लिए रेडबले होता है। 


जब हम कोई भी domain name लिखते हैं और गूगल में सर्च करते हैं तो वह डोमेन नाम को Ip-address में कन्वर्ट करने वाली जो चीज होती है, उसे हम डोमेन नेम सर्वर यानी DNS कहते हैं। 


कभी कभी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर क्या करते हैं की डी एन एस ब्लॉक कर देते हैं, किसी वेबसाइट को कि आप अगर वह डोमेन नेम लिखो तो आपको उस आईपी को इस्तेमाल भी ना कर पाए। 


अब सवाल यह उठता है कि Internet को कंट्रोल कौन करता है, आखिर किसका है इंटरनेट? इसका सही जवाब है कि किसी का भी नहीं है हम सब का है! 


यह इंटरनेट तभी चलता है, किउकी यह डिसेंट्रलाइज सिस्टम है! यदि आपको इंटरनेट खरीदना है। यह आप तब  तभी कर सकते हो जब आप अपनी एक वेबसाइट बनाओ। 


वेबसाइट कैसे बना सकते हो अपना एक डोमेन नेम खरीदना होगा। और आपको एक सरवर खरीदना पड़ेगा जहां पर आप की वेबसाइट को स्टोर की जा सके। 


  1. Domain Name
  2. Server
  3. Connect Domain and Server

आप Google Drive पर भी अपनी वेबसाइट को होस्ट कर सकते हो? यहां पर जो भी डॉक्यूमेंट आप अपलोड करोगे उसे गूगल भी एक्सेस कर सकता है।  



Types of Internet in Hindi


Types of internet में बहुत प्रकार के Internet service Providers हैं। जैसे Airtel, vodafone, Bsnl,भारत मे यह सब अलग सर्विसेज हैं। 



Types of Internet



  1. Dial-up
  2. wireless
  3. Broadband

No. 1: 


Dial-up Internet 


Dial-Up Internet Connection telephone लाइन की सहायता से इंटरनेट से जड़नु का एक श्रोत है मध्यम है। हम जब भी इस का उपयोग करते हैं तो पहले Internet Service Provider (ISP) का फोन नंबर डायल करता है जिसे Dial-Up कहते है। जैसे vodafone, Airtel, Bsnl, Idea और Jio हैं। 


No. 2: 


Wireless


Wireless से हमारे घर या दूकान को हमरे और Isp के बीच Wireless का प्रयोग करके Internet को एक दूसरे से जोड़ता है। 


इस Internet Connetion के लिए किसी मॉडेम या केबल वायर की जरुरत नहीं होती। इसका उपयोग हम हमारे आस पास लगे टावर की सहायता से Internet का Use करते हैं।


No. 3:


Broadband


ब्रॉड बंद एक ऐसे सर्विस है जो Internet हाई स्पीड के लिए की जाती है। हमें इस सर्विस के लिए वायर के दवारा कनेक्ट किया जाता है।

www Kya hai

www Kya hai
www Kya hai

TIM BERNERS LEE ने 1989 में www का अविष्कार किया इसका full form (World Wide Web) होता है। यह सभी डाक्यूमेंट्स का समूह होता है, जो एक दूसरे से Hypertext के दवारा से कनेक्ट होते है। www Internet की एक सेवा है जो सूचनाओ को वेबसाईट के रूप मे रखा जाता है। जैसे,

www.example.com



  • www [World Wide Web]
  • Example [Domain Name]
  • .com [(TLD) Top Level Domain]


Conclusion

उम्मीद है आप को हमारी ये पोस्ट Internet Kya Hai में History of Internet से लेकर बहुत कुछ जानकारी मिली होगी। 

हमने अपनी इस पोस्ट में Internet Kya Hai iska Upyog कैसे करे बड़े ही सरल भासा में विस्तार पूर्वक बताया है। 

साथ साथ चित्रों की सहायत से भी Internet ki Sanrachna का विवरण दिया है। हम आशा करते हैं की आप इस पोस्ट को पूरा पढ़कर Ip-Address Kya Hai, Types of Internet एवं Domain Name Kya Hota Hai की जानकारी से लाभान्वित हुए होंगे।

यदि ऐसा लगता है की हमारी यह पोस्ट Internet Kya Hai से आप के फ्रेंड्स भी कुछ जानकारी हासिल कर सकते हैं, तो आप चाहे तो इस पोस्ट को शेयर भी कर सकते हैं मेहरबानी होगी।

धन्यवाद!

1 Comments

Please do not use abusive language in comment box.

Post a comment

Please do not use abusive language in comment box.

Previous Post Next Post